Welcome to Ramnika Foundation


Activity

भावी योजनाएं

शिक्षा एवं प्रशिक्षण

झारखंड व देश के अन्य भागों में जहां देश के कमजोर वर्ग विशेषकर आदिवासी व दलित अधिक संख्या में रहते हैं कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्र खोलने की योजना।

अनुवाद

विभिन्न भारतीय भाषाओं (विशेषकर आदिवासी भाषाओं) के हिन्दी तथा अंग्रेजी में एवं हिन्दी से विभिन्न भारतीय एवं आदिवासी भाषाओं में अनुवाद हेतु एक कोषांग का गठन।

सर्वेक्षण

(1) झारखंड के हजारीबाग व रांची में सिर पर मैला ढोने वाले सफाई कर्मचारियों का निम्न सूचनाओं को प्राप्त करने हेतु सर्वे कराना-

  • कितने मैला ढोने वाले इस काम को छोड़ कर दूसरा धंधा करना चाहते हैं।
  • कितने इसी काम को करना चाहते हैं और क्यों?
  • झारखंड की सरकार स्वयंसेवी संस्थाएं इसके लिए उनके पुर्नवास व पेशे को बदलने हेतु क्या कदम उठाई है।

(2) झारखंड के निर्माण के बाद विशेष समयावधि में निर्देशित स्थानों में दलित आदिवासी महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा व बलात्कार की घटनाओं तथा सरकारी व गैर-सरकारी संस्थाओं द्वारा उनके पुर्नवास के लिए किए गए कार्यों एवं उनके सशक्तिकरण की वर्तमान स्थिति का सर्वेक्षण

(3) झारखंड के रांची व सिली क्षेत्रा में गैर-आदिवासियों (दिकू) द्वारा आदिवासियों की जो जमीनें हड़पी गई हैं का सर्वेक्षण करवाकर रपट तैयार करना ताकि जमीनों को वापिस दिलाने की कार्यवाई में सहायता मिल सके।

(4) झारखंड राज्य में विस्थापितों की वर्तमान स्थिति और पुनर्वास पर सर्वे तथा शोध।

(5) सरकार की गलत नीतियों तथा सैंसर के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण कुछ जनजातियों को नए सैंसस में अनुसूचित जाति, पिछड़े अथवा जनरल कैटेगरी में दर्ज कर दिया गया है जिससे उनकी पहचान तथा अधिकार खत्म हो रहे हैं। इनका सर्वे करवाना।

(6) दलित, आदिवासी एवं महिलाओं तथा एक्टिविस्टों एवं लेखकों पर खासकर फिल्म और नाटक का निर्माण।

(7) वैज्ञानिक एवं प्रगतिशील आदिवासियों के विकास हेतु झारखंड तथा अन्य राज्यों में सांस्कृतिक तथा शैक्षिक कार्यशालाओं एवं सम्मेलनों का आयोजन करना।

(8) वैकल्पिक पाठ्यक्रमों का विकास, जो परंपरागत, रुढ़िग्रस्त बीमार सोच की बजाय समानता, भाईचारा और आजादी का बोध कराएं।

(9) आदिवासी भाषाओं में प्राथमिक शिक्षा हेतु पुस्तकें विकसित व उपलब्ध कराना ताकि वे मातृभाषा में पढ़ सकें।