Dalit Kahani Sanchayan/दलित कहानी संचयन

Rs.300/-

Isbn: 81-260-1700-7

Writer: Ramnika Gupta/रमणिका गुप्ता

Year: 2003

" दलित कहानी संचयन छह भारतीय भाषाओं में लिखित अड़तालीस कहानियों का प्रतिनिधि संकलन है। ये कहानियां दलित वर्ग के लेखकों द्वारा रचित ऐसी रचनाएं है जो दलित जीवन की यातना पीड़ा आक्रोश और संघर्ष की संवेदना से जगी है। भीतर और बाहर दोनों मात्रा शैली नहीं वरन भाषा और कथ्य है। अमानवीय जुल्म, अत्याचार और सहनशीलता को वाणी देने वाली ये कहानियां अपना एक अलग ही सौंदर्य-शास्त्र गढ़ती हैं। इन कहानियों में दलित जीवन के कई कोण हैं जीवन से जूझने के, जिंदा रहने के, पीड़ा सहने के और उससे उबरने के। समय के लम्बे अंतराल को छूती प्रस्तुत संकलन की कहानियों से दलित चेतना के उदय से लेकर संकल्प बनने तक का विकास उजागर होता है। ‘जाति नहीं मनुष्य हूं मैं समाज का साझेदार हूँ मैं, औरों की तरह मेरी भी जीने की शर्तें है’ यही मुक्ति स्वप्न इन कहानियों को दिशा देता है। यह संचयन अभिशप्त दलित जीवन से जुड़े प्रश्नों, प्रतिप्रश्नों और अप्रिय छवियों को एक नया विमर्श देते हुए प्रस्तुत करता है। "