Dalit Hastkshep/दलित हस्तक्षेप

Rs.300/-

Isbn: 81-903775-0-7

Writer: Ramnika Gupta/रमणिका गुप्ता

Year: 2004

" दलित हस्तक्षेप’ में संकलित रमणिका गुप्ता के लेख दलित साहित्य के ऐतिहासिक दायित्वों को रेखांकित करते हैं, जो सोच और विचार के स्तर पर नए संदर्भों, चुनौतियों और जिम्मेदारियों के दस्तावेज़ हैं। रमणिका गुप्ता ने समय-समय पर अनेक ज्वलंत प्रश्नों पर दलित-विमर्श का पक्ष रखते हुए गंभीरता से अपने सम्पादकीयों में साहित्य की जिम्मेदारी और उसके सरोकारों के सवाल उठाए हैं। उनकी भूमिका एक गंभीर अध्येता की रही है, जो साहित्य के मूलभूत सरोकारों और उत्तरदायित्व से जुड़ी है। रमणिका गुप्ता ने सामाजिक बदलाव की प्रक्रिया को तीव्र करने के लिए विशिष्ट कार्य किए हैं। पुस्तक में दर्ज उनके ये संपादकीय आश्वस्त करते हैं, एक उम्मीद भरी ताज़गी देते हैं और संघर्ष की एक नई ऊर्जा के साथ सामने आते हैं, जो इस जड़ता, संकीर्णता और व्यवस्था को तोड़ने में अपना हस्तक्षेप करते हैं। ये पुस्तक भारतीय मानस में एक सशक्त हस्तक्षेप है। ओमप्रकाश वाल्मीकि "