Aadiwasi Shaurya Evam Vidroh Purvottar/आदिवासी शौर्य एवं विद्रोह पूर्वोत्तर

Rs.300/-

Isbn: 978-81-250-5689-8

Writer: Ramnika Gupta/रमणिका गुप्ता

Year: 2012

" इस पुस्तक में पूर्वोत्तर के अलग-अलग राज्यों व भाषा-भाषी वीर नायकों व नायिकाओं की शौर्यगाथाओं के अतिरिक्त पूर्वोत्तर में हुए विद्रोहों, प्रतिरोधात्मक आन्दोलनों पर शोध-परक सामग्री प्रस्तुत की गई है। ये सभी गाथाएँ पूर्वोत्तर के लेखकों ने लिजिन्द्रियों, लोककथाओं, लोकगीतों, बैलेड़ों व किवदंतियों तथा पूर्वोत्तर में उपलब्ध भिन्न एतिहासिक ग्रन्थों व दस्तावेजों में दर्ज टिप्पणियों के आधार पर तैयार की हैं, जिन्हें इतिहासकारों ने नज़र अदाज़ कर दिया था। इन गाथाओं व विद्रोहों के सूत्रा अंगे्रजों द्वारा किये गये पत्राचार व रपटों में दर्ज हैं या लोक में लिजिन्द्रियों के रूप में प्रचलित हैं। इन गाथाओं का चयन तथा हिन्दी में अनुवाद एवम् सम्पादन रमणिका फाउंडेशन ने संपन्न करवाया है। यह पुस्तक अब तक नज़र अदाज़ किये गये पूर्वोतर में घटित इतिहास को गहराई तक समझने, जानने और शेष भारत का उनसे अपना दर्द का रिश्ता जोड़कर संवाद कायम करने का एक सक्षम् माध्यम है। "