Welcome to Ramnika Foundation


एजेंडा/अभासम

अखिल भारतीय आदिवासी साहित्यिक मंच का ग्यारह सूत्राय एजेण्डा

  • 1. ‘विकास के नाम पर विनाश’ की वर्तमान सरकारी नीति का विकल्प, जमीन व जंगल के अधिकारों की सुरक्षा, आदिवासियों की हड़पी हुई जमीन की वापसी तथा जल-जंगल-जमीन और लाठा-छावन-जलावन के अधिकार।
  • 2. आदिवासी अस्मिता, आत्मविश्वास और आत्मसम्मान का निर्माण एवं वनवासी और संविधान में जनजाति शब्द के प्रयोग का नकार।
  • 3. आदिवासी इतिहास की खोज और पुनर्रचना,
  • 4. साहित्य और मिथकों, खासकर भारतीय साहित्य और धर्मशास्त्रों में, आदिवासियों के अपमानजनक चित्राण का नकार एवं पुनर्मूल्यांकन।
  • 5. आदिवासियों की शिक्षा उनकी मातृभाषा में एवं आदिवासी भाषा और साहित्य का उनकी पाठ्य-पुस्तकों और पाठ्यक्रम में समावेश।
  • 6. आदिवासी संस्कृति में स्त्रियों का स्थान एवं सम्पत्ति में बराबर हिस्से का प्रावधान।
  • 7. भारतीय संस्कृति और इतिहास के निर्माण में आदिवासियों के योगदान को मान्यता एवं स्वीकृति को दर्ज करना।
  • 8. घुमंतू व विमुक्त जनजातियों के मूल नागरिक और संवैधानिक अधिकारों की सुरक्षा।
  • 9. उपेक्षित आदिम जनजातियों की उन्नति और विकास हेतु विशेष योजनाएं, अध्ययन एवं शोध कराया।
  • 10. संवाद, वार्ता और एकजुटता हेतु आदिवासी साहित्य का अनुवाद।
  • 11. आदिवासियों पर भूमंडलीकरण के दुष्प्रभाव के विरुद्ध संघर्ष।